VISITORS
000375
FOLLOW US ON

Sunday, May 26, 2024, 7:39 pm


May 26, 2024 7:39 pm

Home » अंतर्राष्ट्रीय » रायपुर में ‘निर्वस्त्र प्रदर्शन’:bjp ने किया राजभवन मार्च, राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग, ‘आप’ ने भी कसा तंज

रायपुर में ‘निर्वस्त्र प्रदर्शन’:bjp ने किया राजभवन मार्च, राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग, ‘आप’ ने भी कसा तंज

Share This Post

youth Naked protest in Raipur, CG BJP marches to RajBhavan, demands Governor to dismiss the government

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी

विस्तार

रायपुर के विधानसभा रोड पर एससी-एसटी युवाओं के निर्वस्त्र प्रदर्शन पर बीजेपी ने राज्य सरकार को घेरा है। इस मामले को लेकर बीजेपी ने अंबेडकर चौक से राजभवन तक मार्च किया। इसके बाद राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। इस मार्च में सांसद सुनील सोनी, सीनियर विधायक बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर, धरमलाल कौशिक, संजय श्रीवास्तव समेत बीजेपी के नेता  शामिल हुए। अंबेडकर चौक पर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। 

इसके बाद बीजेपी विधायक दल ने राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन को ज्ञापन सौंपा। इसमें प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ हुए नग्न प्रदर्शन की घटना पर संज्ञान लेकर सरकार को तत्काल बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की। बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि विधानसभा मार्ग पर नग्न प्रदर्शन की इस घटना से छत्तीसगढ़ शर्मसार हुआ है। कांग्रेस सरकार की अकर्मण्यता के कारण युवाओं में उपजा आक्रोश नग्न प्रदर्शन की हद तक पहुंच गया। छत्तीसगढ़ को शर्मसार करने वाली इस घटना में प्रदेश के युवाओं ने पूरी तरह से नग्न होकर विधानसभा के रास्ते पर प्रदर्शन किया। यह दुर्भाग्यजनक घटना न केवल छत्तीसगढ़, बल्कि भारत के इतिहास में ही अपनी तरह की अकेली घटना है। इस घटना से छत्तीसगढ़ के लोग शर्मसार हैं। 

युवाओं ने  इस प्रदर्शन की सूचना पहले ही शासन-प्रशासन को दे दी थी। बावजूद इसके शासन ने जरा-सी संवेदना दिखाने की जरूरत नहीं समझी। ये युवा फर्जी जाति प्रमाण पत्र के सहारे उनका अधिकार छीने जाने का विरोध कर रहे थे, लेकिन इनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया। भाजपा विधायक दल ने अपने ज्ञापन में कहा कि युवाओं की मांग पर संवेदनशीलता के साथ विचार करते हुए उसका शीघ्र निराकरण किया जाय और फर्जी प्रमाण पत्र धारियों के खिलाफ एफआईआर हो। नग्न प्रदर्शन के लिए गिरफ्तार किए गए प्रदर्शनकारी युवाओं को तुरंत नि:शर्त रिहाई की मांग भी की गई। पूर्व सूचना के बावजूद इस दु:खद मामले की उपेक्षा करने वाले शासन-प्रशासन के लोगों की जिम्मेदारी तय हो और उन्हें भी दंडित किया जाए।        

   

पूर्व सीएम रमने सिंह ने युवाओं ने नग्न प्रदर्शन पर कहा कि ये घटना प्रदेश को शर्मसार करने वाली है। सरकार के खिलाफ आक्रोश चरम स्तर को पार कर चुका है। सरकार को बने 5 साल हो गए हैं। अनियमितता थी तो इन्होंने ठीक क्यों नहीं किया। कांग्रेस सरकार कब तक  राग अलापती रहेगी। आज का दृश्य दुखद है। ये राज्य सरकार की अपार असफलता का प्रमाण है।

बैरिकेड्स तोड़कर कलेक्टर केबिन में घुसे बीजेपी कार्यकर्ता

राजभवन मार्च से पहले बीजेपी ने ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। बीजेपी जिला कमेटी के नेता अपने प्रदेश कार्यालय एकात्म परिसर से पैदल मार्च करते हुए कलेक्टर दफ्तर पहुंचे थे। रैली निकाल कर कलेक्ट्रेट दफ्तर पहुंचे। इस दौरान पुलिस की बैरिकेडिंग तोड़कर कलेक्टर केबिन में घुस गए। काफी देर तक अफसरों के साथ प्रदर्शनकारियों की बहस हुई। बीजेपी नेता संजय श्रीवास्तव और गौरी शंकर श्रीवास समेत कई नेता ने कलेक्टोरेट ऑफिस में जमकर हंगामा किया। प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। सूचना पर सिटी एसपी अभिषेक माहेश्वरी फोर्स लेकर पहुंचे और बीजेपी के तमाम नेताओं को रोका।  बीजेपी ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिला प्रशासन शहर के ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते अपराध को रोक पाने में पूरी तरह से नाकाम है। कांग्रेस विधायक सत्नारायण शर्मा के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की गई।

छत्तीसगढ़ को शर्मसार कर देने वाला आज का दिन: कोमल हुपेंडी

आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने भूपेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि आज का दिन छत्तीसगढ़ के लिए शर्मसार कर देने वाला दिन है। भूपेश सरकार में अब छत्तीसगढ़ के एससीएसटी वर्ग के युवाओं का नग्न होकर प्रदर्शन करना पड़ रहा है। यह आदिवासी, दलित और जनता विरोधी सरकार है। यह 23 सालों में पहली बार ऐसा हो रहा है कि सरकार के रवैया, गलत नीतियों और भ्रष्टाचार से तंग आकर युवाओं को नग्न होकर प्रदर्शन करना पड़ रहा है। 

‘इस्तीफा दें सीएम भूपेश’

हुपेंडी ने कहा, यह कलंकित कर देने वाला दिन है। अगर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल में थोड़ी सी भी लाज बची है तो उन्हें अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे देना चाहिए। अन्यथा इस दिन को छत्तीसगढ़ के लोग भूलने वाले नहीं हैं। भूपेश सरकार लगातार प्रदेश के युवाओं के साथ छलावा कर रही है। फर्जी प्रमाण पद के आधार पर लोग बड़े-बड़े पद पर पदस्थ हैं। भूपेश सरकार में युवाओं कि हमारा हक मारा जा रहा है। जांच के बाद कई लोगों के फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी करने का पता चला, लेकिन भूपेश सरकार ने किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। 

नग्न प्रदर्शन भाजपा का प्रायोजित कार्यक्रम: कांग्रेस

युवाओं के नग्न प्रदर्शन को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने बीजेपी का प्रायोजित कार्यक्रम बताया। कहा कि भाजपा राज में ही फर्जी प्रमाण पत्र बनाकर लोगों ने आरक्षित वर्ग के अधिकारों पर डाका डाला है। रमन सरकार उनका संरक्षण करती थी और कोई कार्रवाई नहीं करती थी। कांग्रेस सरकार आने के बाद  इस तरह के प्रकरणों की जांच की गई। कार्रवाई भी की गई। कुल 269 केस पर कार्रवाई की गई है। 40 लोगों को बर्खास्त किया गया है। 16 लोग मृत और रिटायर हो चुके थे। 90 लोगों ने कोर्ट से स्टे ले लिया। 17 लोग के पक्ष में अदालत का फैसला आया है। 4 लोगों की  छानबीन दोबारा की जा रही है। 102 लोगों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही प्रकियाधीन है। कांग्रेस सरकार पूरी तरह आरक्षित वर्ग के हितों के साथ खडी है। 

‘महिमामंडन कर रही बीजेपी’

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि भाजपा इस तरह की अवांछित गतिविधियों को प्रोत्साहित कर रही है। उनका महिमामंडन कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर इस मामले में घटिया राजनीति कर रहे हैं। उससे इस आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता कि भाजपा ने ही इन युवाओं को भ्रमित करके या उनसे सौदेबाजी करके छत्तीसगढ़ की संस्कृति को तार-तार करने का काम किया है। छत्तीसगढ़ की संस्कृति का अपमान करने वाले भाजपाई ही इस तरह के षड्यंत्र कर सकते हैं। जिस तरह का फूहड़ प्रदर्शन कराया गया है, वैसा छत्तीसगढ़ के इतिहास में कभी नहीं हुआ। मुद्दाविहीन, दृष्टिकोणविहीन, जनसमर्थन विहीन भाजपा का असली चरित्र सामने आ गया है। 

Source link

bharatnewsalert
Author: bharatnewsalert

Leave a Comment

You May also like this
advertisement